Trending Nowशहर एवं राज्य

BREAKING : सक्रिय राजनीति से संन्यास लेगी सोनिया गांधी, 85वें अधिवेशन में इमोशनल होकर बोली ..

BREAKING: Sonia Gandhi will retire from active politics, spoke emotionally in the 85th session ..

डेस्क। सोनिया गांधी ने कांग्रेस पार्टी के 85वें अधिवेशन में संकेत दिया है कि अब वह सक्रिय राजनीति से संन्यास ले सकती हैं. उन्होंने इशारों-इशारों में कहा है कि भारत जोड़ो यात्रा के साथ मेरी भी राजनीतिक पारी समाप्त हो गई है. सोनिया गांधी ने ये संकेत दिया कि भारत जोड़ो यात्रा के साथ ही उनकी राजनीतिक पारी समाप्त हो सकती है.

छत्तीसगढ़ के नवा रायपुर में कांग्रेस का 85वां पूर्ण अधिवेशन जारी है. शनिवार को अधिवेशन के दूसरे दिन के कांग्रेस नेता सोनिया गांधी ने ये संकेत दिया कि भारत जोड़ो यात्रा के साथ ही उनकी राजनीतिक पारी समाप्त हो सकती है. उन्होंने कहा कि यात्रा एक महत्वपूर्ण मोड़ के रूप में आई है. इसने साबित कर दिया है कि भारत के लोग सद्भाव, सहिष्णुता और समानता चाहते हैं.

‘केंद्र सरकार ने मचाई आर्थिक तबाही’ –

सोनिया गांधी ने कहा, ‘यह कांग्रेस और पूरे देश के लिए एक चुनौतीपूर्ण समय है. बीजेपी-आरएसएस ने देश की हर एक संस्था पर कब्जा कर लिया है और उसे उलट दिया है. कांग्रेस सांसद सोनिया गांधी ने कहा, चंद कारोबारियों को फायदा पहुंचाकर केंद्र सरकार ने आर्थिक तबाही मचाई है.’

‘महिला, आदिवासी और गरीबों पर हुआ हमला’ –

सोनिया गांधी ने कहा, ‘कांग्रेस पार्टी ने बहुत कुछ हासिल भी किया है, एक अच्छा समय भी देखा, बहुत कुछ हासिल किया, लेकिन अब एक मुश्किल दौर से गुजर रही है. पिछले दिनों देश में नफरत के कारण महिलाओं, आदिवासियों, गरीबों और पिछड़ों पर हमले किए गए. ये हमारी जि़म्मेदारी है कि हम इसे खत्म करें. कांग्रेस केवल एक पार्टी नहीं है ये एक विचार है और जीत केवल हमारी होगी.’

क्या भारत जोड़ो यात्रा से बदलेगी कांग्रेस की तस्वीर? –

सोनिया गांधी ने कहा, 2004 और 2009 में हमारी जीत के साथ-साथ मनमोहन सिंह के सक्षम नेतृत्व ने मुझे व्यक्तिगत संतुष्टि दी, लेकिन मुझे सबसे ज्यादा खुशी इस बात की है कि मेरी पारी भारत जोड़ो यात्रा के साथ समाप्त हो सकती है, जो कांग्रेस के लिए एक महत्वपूर्ण मोड़ है.
उन्होंने कहा कि मल्लिकार्जुन खड्गे को राजनीति का लंबा अनुभव है और ऐसे मुश्किल समय में कांग्रेस पार्टी को उनकी अध्यक्षता की आवश्यकता है. खड़गे की अध्यक्षता में हम इस मुश्किल समय को भी पार कर पाएंगे.

Share This: