Trending Nowशहर एवं राज्य

ब्रेकिंग न्यूज़: ठेकेदार के दफ्तर पर पहुंची ED पूछताछ जारी….

कोरबा। छत्तीसगढ़ में ED की छापेमारी जारी है. इसी बीच कोरबा से बड़ी खबर है. ED ने ठेकादर नरेश वर्मा (बी.बी वर्मा) के ऑफिस में छापेमारी की है. ट्रांसपोर्ट नगर स्थित ऑफिस में टीम ने दबिश दी है. ईडी के 8 अधिकारी 2 वाहन से पहुंचे हैं. टीम ठेकेदारी से जुड़े कागजात खंगाल रही है. कोरबा जिले में लगातार ईडी की कार्रवाई जारी है.

कुछ दिन पहले ED ने मारी थी रेड

ईडी की टीम एक बार फिर छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले में छापेमारी कर रही है. स्टेशन रोड निवासी नगर निगम कोरबा के पूर्व पार्षद और व्यवसायी शिव अग्रवाल के यहां सुबह 5:00 बजे ही ईडी की टीम ने दस्तक दी. घर के लोग कुछ समझ पाते, तब तक टीम ने घर के सभी लोगों को एक कमरे में एकत्रित कर जांच कर दी.

जांच के दौरान शिव अग्रवाल के यहां मिला तो कुछ नहीं, लेकिन उनका पूरा परिवार ईडी की छापेमारी से परेशान जरूर हो गया. लगभग 5 घंटे तक माथापच्ची करने के बाद ईटी की टीम खाली हाथ वापस लौट गई. दूसरी तरफ एक और टीम ने किराना गल्ला व्यवसायी रूड़मल अग्रवाल के घर और दुकान में छापेमारी की. टीम के साथ आए सशस्त्र बल के जवान घर के बाहर निगरानी करते देखे गए. ईडी के छापे का दौर लगातार जारी है। ईडी ने एक बार फिर छत्तीसगढ़ में छापामार कार्रवाई की है। कोरबा रजिस्ट्री ऑफिस में भी ईडी ने दबिश दी।

जानकारी के अनुसार, प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की टीम एक बार फिर छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले में छापेमारी कर रही है। स्टेशन रोड निवासी नगर निगम कोरबा के पूर्व पार्षद और व्यवसायी शिव अग्रवाल के यहां सुबह पांच बजे ईडी की टीम ने दस्तक दी। घर के लोग कुछ समझ पाते तब तक टीम ने घर के सभी लोगों को एक कमरे में एकत्रित कर जांच करना शुरू कर दिया। शिव अग्रवाल के यहां मिला तो कुछ नहीं लेकिन उनका पूरा परिवार ईडी की छापेमारी से परेशान जरूर हो गया। लगभग पांच घंटे तक माथापच्ची करने के पश्चात ईडी की टीम खाली हाथ वापस लौट गई।

उधर एक और टीम ने चावल व्यवसाई रूड़मल अग्रवाल के घर और दुकान में छापा मारा। टीम के साथ आए सशस्त्र बल के जवान घर के बाहर निगरानी करते दिखे। पास के ही एक और कारोबारी पाम मॉल का मालिक दिनेश मोदी के यहां भी ईडी की छापे की खबर है। दिनेश मोदी के भाई गोपाल मोदी भाजपा नेता है और राइस मिल का काम है। इसके अलावा रायपुर के शंकर नगर में कई ठेकेदार औऱ कचना इलाके में स्वर्णभूमि स्थित रोहित अग्रवाल के घर पर ईडी की जांच जारी है। रोहित तेंदूपत्ता के कारोबार से जुड़े हैं। ईडी की टीम सुबह से दस्तावेजों की जांच कर रही है। बता दें कि इन सभी के यहां चल रहे कार्रवाई के विषय में या कार्रवाई के दौरान जांच में क्या मिला इसकी अभी तक पूरी तरह से जानकारी नहीं मिल पाई है। ईडी के एकबार फिर से सक्रिय होने से कारोबारियों में हडकंप मच गया है।

ईडी के अधिकारियों ने बताया कि टाइल्स और जमीन कारोबारी पवन अग्रवाल के ठिकानों पर भी दस्तावेजों की जांच जारी है। कोरबा में किराना व्यवसायी रुड़मल अग्रवाल के घर और दुकान में जांच की जा रही है। ईडी के अधिकारियों के साथ सीआरपीएफ के जवान भी कारोबारियों के घर पहुंचे। इससे पहले ईडी की टीम ने रायगढ़ में सुनील रामदास अग्रवाल के ठिकानों पर कार्रवाई की थी। ईडी के उच्च पदस्थ सूत्रों की मानें तो खनिज विभाग और कोरबा, रायगढ़, दंतेवाड़ा, बीजापुर, कांकेर सहित 12 जिला प्रशासन से डीएमएफ का हिसाब मांगा गया है। ईडी की ओर से जारी पत्र के अनुसार, खनिज विभाग से सात बिंदुओं पर जानकारी मांगी गई है। इसमें वर्षवार जिलों को आवंटित राशि और खर्च का ब्यौरा मांगा गया है। राज्य में दस हजार करोड़ की डीएमएफ राशि है।

कोरबा में ईडी की टीम ने शहर के तीन व्यापारियों व दो सरकारी दफ्तरों में जांच की। खनिज न्यास मद (डीएमएफ) व मनी लांड्रिंग की जांच से तार जुड़ने की आशंका जताई जा रही। करीब 12 बजे ईडी की दो सदस्यीय टीम कटघोरा और कोरबा स्थित रजिस्ट्री आफिस में दबिश दी। यहां कुछ महत्वपूर्ण रजिस्ट्री के दस्तावेजों की जानकारी ली गई। चर्चा यह रही कि नेशनल हाइवे (एनएच) के लिए टुकड़ों में जमीन का अधिग्रहण किए जाने की भी जांच की जा रही।वहीं, सीतामणी रोड निवासी गुटखा कारोबारी शिव अग्रवाल के घर से 25 लाख रुपये ईडी की छह सदस्यीय टीम ने बरामद किए। पूछताछ में कारोबारी ने जमीन बेचे जाने व कारोबार के नियमित आवक के रुपये होने की जानकारी दी गई। सूत्रों का दावा है कि ईडी ने यह राशि जब्त नहीं की। शिव अग्रवाल ने कुछ वर्ष पहले डीएमएफ मद से आंगनबाड़ियों में खिलौने की सप्लाई की थी।

Share This: