Trending Nowशहर एवं राज्य

BREAKING : गृहमंत्री का होगा इंदिरा गांधी जैसा हाल, अमृतपाल की खुली धमकी ..

BREAKING: Home Minister will be like Indira Gandhi, Amritpal’s open threat ..

पंजाब के ‘वारिस पंजाब दे’ संगठन के प्रमुख खालिस्तान समर्थक अमृतपाल सिंह के समर्थकों ने गुरुवार को जमकर हंगामा किया. अमृतपाल के एक साथी लवप्रीत तूफान की गिरफ्तारी के विरोध में उनके समर्थकों ने अजनाला पुलिस थाने के बाहर जमकर बवाल किया. इस दौरान छह पुलिसकर्मी गंभीर रूप से घायल हो गए, जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया.

इस बीच अमृतपाल सिंह ने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह को सीधे तौर पर धमकी भी दी. सिंह ने कहा कि अमित शाह ने कहा था कि वह खालिस्तान आंदोलन को आगे बढ़ने नहीं देंगे. मैंने कहा था कि इंदिरा गांधी ने भी ऐसा ही किया था. अगर आप भी ऐसा ही करेंगे तो आपको उसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा. अगर गृहमंत्री हिंदू राष्ट्र की मांग करने वालों के लिए भी ऐसा ही कहते हैं तो मैं देखूंगा कि वह गृहमंत्री पद पर रह पाते हैं या नहीं.

उन्होंने कहा कि जब लोग हिंदू राष्ट्र की मांग कर सकते हैं तो हम खालिस्तान की मांग क्यों नहीं कर सकते. पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने खालिस्तान का विरोध करने की कीमत चुकाई थी. हमें कोई भी नहीं रोक सकता, फिर चाहे वह पीएम मोदी हो, अमित शाह या भगवंत मान.

बता दें कि इससे पहले भी अमृतपाल सिंह ने एक कार्यक्रम में अमित शाह को धमकाते हुए कहा था कि पंजाब का बच्चा-बच्चा खालिस्तान की बात करता है. इंदिरा गांधी ने भी दबाया था, क्या नतीजा निकला सब जानते हैं. अमित शाह भी अपनी इच्छा पूरी कर लें. हम अपना राज मांग रहे हैं, किसी दूसरे का नहीं.

गृहमंत्री अमित शाह हाल ही में खालिस्तान समर्थकों को लेकर अपना रुख रख चुके हैं. उन्होंने कहा था कि पंजाब में खालिस्तान समर्थकों पर सरकार की नजर है.

बता दें कि अमृतपाल के सहयोगी को गिरफ्तार किए जाने के विरोध में पंजाब के अजनाला थाने में पहुंचे समर्थकों ने तलवारों और बंदूकों के साथ पुलिस बैरीकेड्स तोड़ दिए. समर्थक अमृतपाल सिंह के करीबी लवप्रीत तूफान की गिरफ्तारी के विरोध में पुलिस स्टेशन के बाहर इकट्ठा हुए थे. उनके समर्थक अमृतपाल सिंह के करीबी लवप्रीत तूफान की गिरफ्तारी के विरोध में पुलिस स्टेशन के बाहर इकट्ठा हुए थे. सुधीर सूरी हत्याकांड में पुलिस ने वारदात के कुछ देर बार ही हमलावर संदीप सिंह को गिरफ्तार कर लिया था. उसकी कार भी जब्त कर ली थी. आरोपी की कार में खालिस्तानियों का पोस्टर लगा हुआ था.

इसके अलावा संदीप के इंस्टाग्राम और फेसबुक पर उसके हालिया पोस्ट से पता चला था कि वह कट्टरपंथी था.संदीप सिंह ने अपने अकाउंट से अमृतपाल सिंह के कई वीडियो पोस्ट किए थे. जिनमें खालिस्तान समर्थक नेता से मुलाकात का एक वीडियो भी था.

खालिस्तानी समर्थक माना जाता है अमृतपाल

अमृतपाल जरनैल सिंह भिंडरांवाले का समर्थक है. उसे खालिस्तानी समर्थक माना जाता है. सितंबर में अमृतपाल को संगठन का प्रमुख बनाया गया है. ‘वारिस पंजाब दे’ संगठन को अभिनेता संदीप सिंह उर्फ दीप सिद्धू ने खड़ा किया था. दीप सिद्धू 26 जनवरी, 2021 को लालकिले पर हुए उपद्रव के मामले में प्रमुख आरोपी था.

अमृतपाल सिंह का नाम पंजाब के शिवसेना नेता सुधीर सूरी हत्याकांड में भी सामने आया था. सुधीर सूरी के परिवार ने हत्याकांड में अमृतपाल सिंह का नाम भी शामिल करने की मांग की थी. इसके बाद पुलिस ने ‘वारिस पंजाब दे’ के प्रमुख अमृतपाल सिंह को मोगा के गांव सिंगावाला में नजरबंद कर दिया था. दरअसल अमृतपाल सिंह जालंधर के विशाल नगर में कीर्तन के लिए रवाना होने वाला था, तभी पुलिस ने गुरुद्वारा के पास अमृतपाल को नजरबंद कर दिया था.

 

 

 

 

 

 

Share This: