Trending Nowशहर एवं राज्य

BREAKING : अपने जमाने के मशहूर ड्रैग फ्लिकर और खेल मंत्री पर यौन शोषण का आरोप ..

BREAKING: Famous drag-flicker and sports minister of his era accused of sexual harassment..

डेस्क। हरियाणा के खेल मंत्री संदीप सिंह ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। हरियाणा की महिला कोच ने उनके ऊपर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है। जूनियर एथलेटिक्स कोच के मुताबिक वाकया संदीप सिंह के चंडीगढ़ ऑफिस का है। यहां पर वह किसी ऑफिशियल काम से उनसे मिलने गई थी। वहीं पर यह घटना हुई थी। बता दें कि संदीप सिंह एक नामी भारतीय हॉकी खिलाड़ी रह चुके हैं। उन्होंने भारतीय हॉकी टीम की कप्तानी भी की है और वह दो बार ओलंपिक में हिस्सा ले चुके हैं। 2006 में उनकी रीढ़ में गोली भी लगी थी। जिसके बाद उन्होंने मैदान में जबर्दस्त वापसी की थी।

अपने जमाने के मशहूर ड्रैग फ्लिकर

संदीप सिंह ने जनवरी 2004 में संदीप सिंह अपने जमाने के मशहूर ड्रैग फ्लिकर रहे हैं। उन्हें उस वक्त का सबसे शानदार पेनाल्टी कॉर्नर एक्सपर्ट माना जाता है। उनकी मशहूर ड्रैग फ्लिक के चलते मीडिया में संदीप सिंह को फ्लिकर सिंह कहकर बुलाया जाता है। इसी आधार पर उन्होंने अपना ट्विटर हैंडल भी फ्लिकर सिंह बनाया है। संदीप ने मलेशिया के कुआलालंपुर खेले गए सुल्तान अजलान शाह कप से इंटरनेशनल डेब्यू किया था। उसी साल एथेंस ओलंपिक में खेलकर वह भारत के सबसे युवा ओलंपियन बने। इसके बाद जनवरी 2009 में उन्हें भारतीय हॉकी टीम का कप्तान बना दिया गया। संदीप ने अपनी कप्तानी में साल 2009 में भारत को सुल्तान अजलान शाह कप में खिताबी जीत दिलाई थी। भारत को यह जीत 13 साल के लंबे अंतराल के बाद मिली थी। टूर्नामेंट में संदीप ने सबसे ज्यादा गोल किए थे। 2012 में भी उन्होंने ओलंपिक में हिस्सा लिया था।

जब लगा था कॅरियर खत्म

यह बात है साल 2006 की। जूनियर वर्ल्डकप में धमाल मचाने के बाद संदीप सिंह सीनियर हॉकी में कमाल दिखाने के लिए तैयार थे। जर्मनी में विश्वकप होने वाला था, लेकिन इस टूर्नामेंट से कुछ दिन पहले 22 अगस्त 2006 को संदीप सिंह के साथ एक हादसा हो गया। वह अपने टीम के साथी राजपाल सिंह के साथ कालका शताब्दी ट्रेन में जा रहे थे। इसी दौरान एक आरपीएफ जवान की बंदूक से गलती से चली गोली उनकी रीढ़ में लगी। इसके बाद उनका काफी लंबा इलाज चला। एक वक्त लग रहा था कि संदीप सिंह का कॅरियर खत्म हो चुका है। लेकिन रिहैबिलिटेशन और ट्रेनिंग में करीब दो साल बिताने के बाद संदीप सिंह ने मैदान पर जोरदार वापसी की। 2008 के सुल्तान अजलान शाह हॉकी में उन्होंने सबसे ज्यादा नौ गोल किए थे।

बन चुकी है फिल्म

संदीप सिंह के ऊपर सूरमा नाम से बायोपिक फिल्म बन चुकी है। इस फिल्म में अभिनेता दिलजीत दोसांझ ने संदीप सिंह का रोल प्ले किया था। सूरमा फिल्म साल 2018 में 13 जुलाई के दिन रिलीज हुई थी। इस फिल्म को शाद अली ने बनाया था। फिल्म में अंगद बेदी और तापसी पन्नू ने भी मुख्य भूमिकाएं निभाई थीं। इसके अलावा संदीप सिंह एमटीवी रोडीज में जज की भूमिका भी निभा चुके हैं।

डीएसपी और फिर राजनीति में आए

संदीप सिंह की खेल में उपलब्धियों के चलते हरियाणा पुलिस में ने उन्हें डीएसपी रैंक दी गई थी। बाद में उन्होंने राजनीति की तरफ रुख कर लिया। साल 2019 में संदीप सिंह ने हरियाणा के कुरुक्षेत्र स्थित पिहोवा विधानसभा क्षेत्र से भाजपा के चुनाव लड़ा था। चुनाव में जीत के बाद खट्टर सरकार में खेल और युवा मामलों का मंत्री बनाया गया था।

आरोपों पर संदीप ने यह कहा

संदीप सिंह ने खुद पर लगाए गए आरोपों को बेबुनियाद बताया है। संदीप सिंह ने एएनआई से बातचीत में कहा कि मेरी छवि खराब करने के लिए माहौल खराब किया गया है। खेल विभाग की एक जूनियर कोच ने मेरे ऊपर झूठे आरोप लगाए हैं। मामले की जांच चल रही है। मैंने नैतिक अधिकार पर खेल विभाग की जिम्मेदारी मुख्यमंत्री को सौंप दी है। उन्होंने आगे लिखा है कि मैं चाहता हूं कि जांच निष्पक्ष ढंग से की जाए ताकि सच्चाई पूरी तरह से सामने आए। इसके बाद मुख्यमंत्री उसके हिसाब से फैसला करें।

Share This: