Trending Nowशहर एवं राज्य

BHET MULAKAT : छपोरा में पुलिस चौकी और ग्राम हसौद में स्वामी आत्मानंद शासकीय अंग्रेजी माध्यम शाला की घोषणा

BHET MULAKAT: Announcement of the police post in Chapora and Swami Atmanand Government English Medium School in village Hasaud

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल प्रदेशव्यापी भेंट-मुलाकात अभियान के तहत आज नवगठित जिला सक्ती के अंतर्गत विकासखण्ड मालखरौदा के ग्राम छपोरा पहुंचे। उन्होंने ग्राम छपोरा के गौठान में छत्तीसगढ़ महतारी के चित्र पर दीप प्रज्ज्वलित और माल्यार्पण कर ग्रामवासियों से चर्चा की शुरूआत की। इस दौरान शासन द्वारा जनहित में चलाई जा रही कार्यक्रमों और योजनाओं के क्रियान्वयन के बारे में विस्तार से जानकारी ली। मुख्यमंत्री ने ग्रामीणों की मांग पर क्षेत्र के विकास के लिए अनेक विकास कार्यों की सौगात भी दी।

मुख्यमंत्री बघेल से चर्चा के दौरान ग्रामीणों ने लोगों के उत्थान और उन्हें आगे बढ़ाने के लिए शासन द्वारा संचालित विभिन्न कार्यक्रमों के बारे में खूब सराहना की। इस तारतम्य में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को आज भेंट-मुलाकात के दौरान सक्ती से पहुँचे मोहम्मद हारून ने अपने स्वास्थ्यगत समस्याओं के बारे में अवगत कराते हुए 3 लाख रूपये की आवश्यकता बताई। मुख्यमंत्री ने जिस पर ईलाज की गम्भीरता को देखते हुए विशेष स्वास्थ्य सहायता योजना के तहत हारून को 20 लाख रुपये की स्वीकृति प्रदान की। साथ ही कहा- आपके स्वास्थ्य की चिंता करना हमारी जवाबदारी है। इसके लिए मुख्यमंत्री सम्बंधित अधिकारियों को समुचित उपचार हेतु विस्तृत दिशा-निर्देश भी दिए। जिस पर मोहम्मद हारून ने मुख्यमंत्री के दरियादिली के प्रति खूब आभार व्यक्त किया।

कतका धान बेचेस लच्छेराम अउ कतका ऋण माफ होइस –

भेंट-मुलाकात के दौरान ग्राम सेधरा से पहुँचे लच्छेराम यादव ने कृषि ऋण माफ के लिए मुख्यमंत्री के प्रति आभार व्यक्त किया। उन्होंने मुख्यमंत्री को बताया कि मोर 1 लाख 10 हजार रुपया के कृषि ऋण माफ होइस है, जिस पर मुख्यमंत्री ने कहा ये साल कतका धान बेचेस। जिस पर लच्छेराम यादव ने कहा कि लगभग मोला 4 लाख रुपये मिलिस है। अउ हर साल लगभग में हर 635 कट्टा धान बेचथो।

लच्छेराम ने मुख्यमंत्री को बताया कि गत वर्ष भाई के शादी में खर्च किया था, परंतु इस साल पत्नी के लिए सोने के गहने खरीदने में आमदनी का खर्च करूगा। लच्छेराम यादव ने मुख्यमंत्री के समक्ष राजीव गांधी किसान न्याय योजना सहित जनहित में चलाए जा रही विभिन्न कार्यक्रमों की भूरि-भूरि प्रशंसा की।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज भेंट-मुलाकात कार्यक्रम के दौरान ग्राम छपोरा में किसान वेद राम साहू के यहां भोजन भी किया। वेद राम साहू ने हर्ष जताते हुए कहा कि एक किसान परिवार का मुख्यमंत्री ही किसान के घर का भोजन स्वीकार कर सकता है। उनके नेतृत्व में राज्य सरकार ने किसानों के हित में अनेक निर्णय लिए हैं, जिसके फलस्वरूप आज किसानों के चेहरे पर मुस्कान दिख रही है। वेदराम ने कहा कि मैंने जीवन में कभी नहीं सोचा था कि, प्रदेश के मुखिया एक छोटे किसान के घर भोजन स्वीकार करेंगे। यह मेरे और मेरे परिवारजनों के लिए आश्चर्यजनक रहा। यह मुख्यमंत्री का बड़प्पन है, जो एक किसान के घर का भोजन बड़े प्रेम से स्वीकार किया परिवार जनों के नाम पूछे और आत्मीयता से मुलाकात भी की।

मुख्यमंत्री बघेल ने भेंट-मुलाकात अभियान के दौरान ग्रामीणों से चर्चा करते हुए छत्तीसगढ़िया ओलंपिक खेल के बारे में जानकारी ली। ग्रामीणों ने बताया कि इसमें भाग लेकर हम सभी बहुत आनंद उठा रहे हैं। इसके जरिए हमारे लुप्तप्राय एवं पारंपरिक खेलों को पुनः बढ़ावा मिला है और हमारी बहुरंगी संस्कृति पुर्नजीवित हो उठी है। मुख्यमंत्री बघेल ने ग्रामीणों की मांग पर क्षेत्र के विकास के लिए अनेक कार्यों की सौगात दी। इनमें छपोरा में पुलिस चौकी, ग्राम हसौद में स्वामी आत्मानंद शासकीय अंग्रेजी माध्यम शाला की स्थापना, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र हसौद का सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में उन्नयन, ग्राम जमड़ी-हरेठी खुर्द-जुनवानी रोड का निर्माण, मरघट्टी से रनपोटा पीएमजेएसवाय रोड, मिरौनी से नरियरा रोड, ग्राम पंचायत आमापाली, वि.ख. जैजैपुर में उप स्वास्थ्य केन्द्र का निर्माण और ग्राम छिर्राडीह में प्रायमरी स्कूल भवन एवं आहाता निर्माण तथा ग्राम हरदीडीह में प्रायमरी स्कूल भवन एवं आहाता निर्माण शामिल है।

Share This: