Trending Nowशहर एवं राज्य

BHARAT JODO YATRA J&K : ‘भारत जोड़ो यात्रा’ की जम्मू-कश्मीर में एंट्री के साथ ही जुड़ा विवाद, कौन है लाल सिंह जिसे लेकर उठ रहे सवाल

BHARAT JODO YATRA J&K: Controversy related to the entry of ‘Bharat Jodo Yatra’ in Jammu and Kashmir, who is Lal Singh, about whom questions are being raised

डेस्क। राहुल गांधी की अगुवाई वाली ‘भारत जोड़ो यात्रा’अपने अंतिम चरण में गुरुवार को जम्मू कश्मीर में दाखिल हो गई है. अब तक किसी बड़े विवाद से बची रही इस यात्रा के साथ अब एक विवाद जुड़ता दिख रहा है. डोगरा स्वाभिमान संगठन पार्टी के अध्यक्ष चौधरी लाल सिंह के राहुल गांधी के मार्च में शामिल होने के फैसले के बाद यह विवाद खड़ा हुआ है.

दरअसल सिंह पर आरोप है कि उन्होंने 2018 में कठुआ में आठ वर्षीय लड़की के बलात्कार और हत्या के कथित अपराधियों के समर्थन में हिंदू एकता मंच द्वारा आयोजित एक रैली में भाग लिया था और भाषण भी दिया था. इन आरोपों के बाद लाल सिंह को पीडीपी-बीजेपी कैबिनेट से हटा दिया गया था और उन्हें बीजेपी से भी इस्तीफा देना पड़ा था. हालांकि बाद उन्होंने सफाई दी थी कि वह तो केवल सीबीआई जांच की मांग कर रहे हैं.

उमर अब्दुल्ला ने जताया विरोध

नेशनल कॉन्फ्रेंस के उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला ने बुधवार को कहा कि कांग्रेस को कठुआ बलात्कार और हत्या मामले में बलात्कारियों का कथित तौर पर समर्थन करने वाले पूर्व मंत्री चौधरी लाल सिंह को ‘भारत जोड़ो यात्रा’ में भाग लेने की अनुमति नहीं देनी चाहिए. अब्दुल्ला ने कहा कि कांग्रेस को इस बात पर गौर करना होगा कि कुछ लोग यात्रा का इस्तेमाल अपने अतीत के ‘दागों’ को धोने के लिए कर सकते हैं.

अब्दुल्ला ने कहा, ‘हम उन नेताओं की भूमिका को नहीं भूले हैं जिन्होंने बलात्कारी को बचाने की कोशिश की. उन्होंने जिस तरह से लोगों की भावनाओं को ठेस पहुंचाई, वह किसी से छिपी नहीं है.’ पूर्व सीएम इस सवाल का जवाब दे रहे थे कि क्या कांग्रेस को पीडीपी-भाजपा सरकार में मंत्री रहने के दौरान बलात्कार के आरोपियों के समर्थन में उतरे सिंह जैसे नेताओं की ‘भारत जोड़ो यात्रा’में भागीदारी की अनुमति देनी चाहिए.

हालांकि उमर के इस विरोध के बावजूद पार्की के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला गुरुवार शाम भारत जोड़ो यात्रा के जम्मू कश्मीर में पहुंचने पर स्वागत करने के लिए पहुंचे. नेशनल कॉन्फ्रेंस के एक नेता ने कहा कि पार्टी के नेता और कार्यकर्ता कई वाहनों में यात्रा में शामिल होने के लिए निकले.

‘अपने घर जा रहा हूं’

बता दें सात सितंबर को कन्याकुमारी से शुरू हुई यात्रा अंतिम चरण में गुरुवार शाम पठानकोट-पंजाब के रास्ते लखनपुर में प्रवेश कर गई. यात्रा के जम्मू कश्मीर पहुंचने पर राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा, ‘आज, जम्मू-कश्मीर पहुंचने की बहुत खुशी है, क्योंकि अपने घर जा रहा हूं, जहां से मेरे पूर्वजों की जड़ें जुड़ी हैं और, सीखता समझता जा रहा हूं, खुद को, हर प्रदेश को, अपने देश को.’

 

 

 

 

Share This:
%d bloggers like this: