Trending Nowदेश दुनिया

TAJINDER PAL SINGH BAGGA ARREST : तीन राज्यों की पुलिस के बीच दिनभर चला अजीब तमाशा, BJP नेता की गिरफ्तारी पर बवाल

A strange spectacle went on throughout the day between the police of three states, uproar over the arrest of BJP leader

डेस्क। बीजेपी की दिल्ली यूनिट के प्रवक्ता तेजिंदर सिंह बग्गा को दिल्ली पुलिस ने कुरुक्षेत्र जाकर अपनी कस्टडी में ले लिया और उन्हें राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली ले आई है. बग्गा की अचानक गिरफ्तारी के बाद हरियाणा, दिल्ली और पंजाब पुलिस के बीच अजीब तमाशा देखने को मिला. पंजाब पुलिस कानूनी प्रक्रिया की बात कहती रही, लेकिन बग्गा को पंजाब नहीं ले जा पाई. उसे बीच में ही दिल्ली पुलिस के कहने पर हरियाणा पुलिस ने रास्ते में रोक दिया. अब दिल्ली पुलिस उसे कुरुक्षेत्र से कस्टडी में लेने के बाद दिल्ली वापस ले आई है.

मतलब इस पूरे मामले में पंजाब के हाथ खाली रह गए और दिल्ली पुलिस हरियाणा की मदद से बग्गा को कस्टडी मे लेने में कामयाब हो गई. पंजाब पुलिस ने हरियाणा पुलिस पर बग्गा को रास्ते में रोके जाने का आरोप लगाते हुए हाईकोर्ट में एक याचिका भी दाखिल की है. याचिका में हरियाणा पुलिस पर पंजाब पुलिस को रोके जाने का आरोप है. आइए अब मामले को शुरुआत से समझते हैं.

पंजाब पुलिस ने शुक्रवार को कहा कि उसने मोहाली में दर्ज एक मामले में भारतीय जनता पार्टी (BJP) की दिल्ली यूनिट के प्रवक्ता तेजिंदर पाल सिंह बग्गा को राष्ट्रीय राजधानी में उनके आवास से गिरफ्तार किया.

इसके बाद बग्गा को दिल्ली से मोहाली ले जा रहे पंजाब पुलिस के वाहनों को हरियाणा के कुरुक्षेत्र में रोक दिया गया. सूत्रों ने बताया कि हरियाणा पुलिस के अधिकारी कुछ मुद्दों को लेकर पंजाब पुलिस के अपने समकक्ष अधिकारियों से बात कर रहे थे. हालांकि हरियाणा पुलिस की ओर से इस संबंध में कोई टिप्पणी नहीं की गयी.

बग्गा की गिरफ्तारी पर BJP और आप के नेताओं में चल रहे आरोप-प्रत्यारोप के बीच दिल्ली पुलिस ने बग्गा के पिता की शिकायत के आधार पर जनकपुरी थाने में उनके (बग्गा के) अपहरण का मामला दर्ज कर लिया. बग्गा के पिता ने शिकायत की कि शुक्रवार सुबह करीब आठ बजे कुछ लोग उनके घर आए और उनके बेटे को ले गए.

पंजाब पुलिस ने एक बयान जारी कर कहा था कि बग्गा को पंजाब ले जाया जा रहा है, जहां उन्हें एक अदालत में पेश किया जाएगा. पंजाब पुलिस ने दावा किया कि पांच नोटिस भेजे जाने के बावजूद बग्गा (36) जांच में शामिल नहीं हुए थे, जिसके बाद उन्हे कानून की उचित प्रक्रिया के बाद सुबह उनके घर से गिरफ्तार किया गया.

पंजाब पुलिस ने भड़काऊ बयान देने, शत्रुता को बढ़ावा देने और आपराधिक धमकी देने के आरोप में बग्गा के खिलाफ पिछले महीने मामला दर्ज किया था. पुलिस ने मोहाली में रहने वाले आप नेता सन्नी अहलूवालिया की शिकायत के आधार पर बग्गा के खिलाफ यह मामला दर्ज किया था.

पंजाब पुलिस ने बताया कि एक अप्रैल को दर्ज की गई प्राथमिकी के मुताबिक, 30 मार्च को बग्गा ने दिल्ली में मुख्यमंत्री आवास के बाहर भाजपा युवा मोर्चा के विरोध-प्रदर्शन में हिस्सा लिया था और कथित तौर पर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी.

बग्गा सोशल मीडिया पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के खिलाफ काफी मुखर रहे हैं. बग्गा ने कुछ समय पहले ‘द कश्मीर फाइल्स’ फिल्म को लेकर केजरीवाल के खिलाफ ट्वीट कर उनकी आलोचना की थी, जिसके बाद से वह आम आदमी पार्टी (आप) के निशाने पर आ गए थे.

बग्गा की गिरफ्तारी के बाद, पंजाब पुलिस ने एक बयान में कहा, ‘आरोपी को आपराधिक दंड संहिता की धारा 41 ए के तहत जांच में शामिल होने के लिए पांच नोटिस दिए गए थे. 9, 11, 15, 22 और 28 अप्रैल को नोटिस की विधिवत तामील की गई थी. इसके बावजूद आरोपी जानबूझकर जांच में शामिल नहीं हुए.

Share This:

Leave a Response

%d bloggers like this: