Input your search keywords and press Enter.

कंपनी के डायरेक्टरों ने ट्रेडमार्क हड़प करोड़ों की धोखाधड़ी की, मुम्बई से गिरफ्तार

रायपुर। खरोरा इलाके में स्थित सचदेव साइंटिफिक इक्विपमेंट प्राईवेट लिमिटेड के डायरेक्टर को कंपनी में ही काम करने वाले दो लोगों ने धोखा कर करोड़ों रूपए का नुकसान पहुंचाया। इसके लिए कंपनी के ट्रेडमार्क का गलत इस्तेमाल किया गया। दोनों 13,00,000 रूपये के 17 मोल्ड को रिपेयरिंग कराने के नाम पर बिना संस्था की सहमति एवं जानकारी के ले गये थे । कांसाब्लाॅक नाम से उत्पादित प्रोडक्ट का ट्रेडमार्क पंजीयन अपने नाम पर संस्था की जानकारी के बिना करा लिये थे । आरोपी हरेश पुरोहित मैनुफैक्चरिंग हेड एवं गिरिश पुरोहित कंपनी में डायरेक्टर के पद पर थे।

बलौदाबाजार रोड में स्थित सचदेव साइंटिफिक इक्विपमेंट प्राईवेट लिमिटेड के नाम से प्लास्टिक के लेब प्रोडक्ट कंपनी का डायरेक्टर एवं शेयर होल्डर मनोज सचदेव ने थाना खरोरा में रिपोर्ट दर्ज कराया कि कंपनी की समस्त कार्यवाही हेतु वह अधिकृत है तथा वह वर्ष 2014 से हरेश पुरोहित एवं गिरीश पुरोहित को अच्छा अनुभव होना बताने पर फैक्चरिंग एवं डायरेक्टर के पद पर नियुक्त किया गया था, जो दोनो संस्थान से विश्वासघात करते हुए संस्था के माल के आर्डर को अपनी खुद की संस्था कांसाब्लाॅक कार्पोरेशन से मोल्ड का दुरूपयोग करके करोड़ो का नुकसान पहुचाया जाॅब वर्क के जरिये संस्था के मोल्ड को मुंबई ले जाकर टेक्नोप्लास्ट नामक 106 निधि इंडस्ट्रीयल प्रीमाईजेस गोलानी नाका वालिब वसई मुंबई स्थित संस्थान जिसके संचालक चेतन जोशी है, को जाॅब वर्क दिया गया था। जिस संबंध मे उक्त संस्था के संचालक चेतन जोशी से बात किया तो उनके द्वारा मनोज को बताया गया कि हरेश पुरोहित एवं गिरिश पुरोहित द्वारा मोल्ड को रिपेयरिंग के नाम से ले जाये जाने की जानकारी प्राप्त हुई। उसके बड़े भाई दिलीप सचदेव से ड्राइवर के मोबाईल नंबर से 2 मई को चेतन जोशी के फोन से संपर्क होने का पता चला तथा उक्त दोनो व्यक्ति के द्वारा सारागांव स्थित फैक्ट्री से लगभग 17 मोल्ड कीमती 13,00,000 रूपये को रिपेरिंग कराने के नाम पर बिना संस्था की सहमति व जानकारी के ले गये है। संस्थान के कांसाब्लाॅक नाम से उत्पादित प्रोडक्ट का ट्रेडमार्क अपने नाम से पंजीयन संस्था की जानकारी के बिना करा लिया गया हैं। पुलिस की टीम को आरोपियों के मुंबई में होने की सूचना प्राप्त हुई जिस पर आरोपियों को गिरफ्तार कर ट्रांजिट रिमांड में रायपुर लाया गया है।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *