Input your search keywords and press Enter.

दर्जन भर से ज्यादा को सरकारी नौकरी का झांसा देकर लाखो की ठगी करने वाली शातिर महिला गिरफ्तार, ठगे थे करीब 12 लाख

रायपुर। बेरोजगारों को सरकारी नौकरी का झांसा देकर ठगी करने वाली महिला को पुलिस ने गिरफ््तार किया है। मामला सिविल लाइन थाने में दर्ज कराई गई शिकायत के बाद सामने आया। प्रतीक फटिंग ने थाना सिविल लाईन में रिपोर्ट दर्ज कराया कि वह विकास नगर गुढ़ियारी का रहने वाला है तथा बेरोजगार है। करीब 2 साल पूर्व नवम्बर 2017 में उसका कुछ लोगों के माध्यम से प्रीतम नगर में रहने वाली श्रीमती शालू येडे से जान पहचान हुई। उसने प्रतीक को गार्ड के पद पर नौकरी लगा देने की बात कलेक्टर परिसर रायपुर में की जिससे उसकी बातों में आकर उसके घर में जाकर उसने 35 हजार रूपये नगद दिया एवं उसने किश्तों में 5-5 हजार रुपये और देकर कुल 45 हजार रुपये शालू को दिए । किन्तु उसकी नौकरी शालू ने नहीं लगवाई।
इसी तरह शालू येडे ने अनुसूईया राउत से 20,000 रू., सूचिता से 35,000 रू., चन्द्रकला से 55,000 रू., कविता चैहान से 1,75,000 रू., जसवंत खिलाडी से 1,20,000 रू., अजय सिंह गौतम से 65,000 रू., मंगेश राउत से 45,000 रू., भूपेश सय्याम 35,000 रू., राकेश यशेनसुरे से 35,000 रू., कमलेश कुम्भारे से 60,000 रू., आशुतोष कुर्मी से 2,45,000 रू. अंकुश कोडापे से 75,000 रू. विशाल गायकवाड से 1,50,000 रू. सभी व्यक्तियों से सुपरवाईजर, गार्ड एवं चपरासी के पद की नौकरी लगाने के नाम से सभी लेागो से घर में बुलाकर कुल 11,60,000 रू. (ग्यारह लाख साठ हजार) रू. लिया। किन्तु आज तक किसी की भी नौकरी नही लगाई है और पैसा मांगने पर वापस भी नहीं कर रही थी। पैसा मांगने पर धमकी देती थी। जिस पर थाना सिविल लाईन में 420 भादवि के तहत अपराध पंजीबद्ध किया गया। उसकी पतासाजी शुरू की गई। पूछताछ में आरोपिया ने उपरोक्त प्रार्थियों से सुपरवाईजर, गार्ड एवं चपरासी के पद पर नौकरी लगाने के नाम पर 11,60,000 रूपये लेकर ठगी करना स्वीकार किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *